योग–शिक्षा का महत्व बताते हुए समाचार-पत्र के संपादक को पत्र।

Yog shikshan ka mahatva batate hue sampadak ko Patra.

सेवा में‚
संपादक महोदय‚
दैनिक हिंदुस्तान टाइम्स‚
एम . जी रोड नई दिल्ली

दिनांक– 9-10-20…..

विषय– योग शिक्षा का महत्व।

महोदय‚
जन-जन की आवाज जन-जन तक पहुंचाने के लिए मशहूर आपके पत्र के माध्यम से मैं स्कूल में योग–शिक्षा के महत्व को हर व्यक्ति तक पहुंचाना चाहती/चाहता हूं। योग–शिक्षा के माध्यम से विद्यार्थी स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होंगे तथा योग–शिक्षा उनके स्वास्थ्य के लिए बहुत अधिक लाभदायक भी है। क्योंकि आज–कल के विद्यार्थी‚ बच्चे जंग फूड की और अत्यधिक आकर्षित होते जा रहे हैं‚ जिससे उनका भविष्य उज्जवल नहीं दिखाई दे रहा है। उज्जवल भविष्य के लिए स्वयं स्वस्थ होना बहुत जरूरी है।

योग के जरिए वह अपने शरीर की नकारात्मक शक्तियों व आलस्य को बाहर निकाल सकते हैं तथा सकारात्मक ऊर्जा को ग्रहण कर सकते हैं।

योग के माध्यम से वह अपने तन-मन दोनों को स्वस्थ रख सकते हैं और उनके संपूर्ण विकास में भी सहायता मिलती रहेगी।

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि आप अपने समाचार–पत्र के माध्यम से विद्यार्थियों को योग के प्रति जागरूक करें और लोगों को योग–शिक्षा ग्रहण करने के लिए आग्रह करें तथा योग–शिक्षा ग्रहण करने के लिए जगह–जगह रेगुलर योग क्लासेस खोलने का इंतजाम करवाए।

धन्यवाद।

भवदीय/भवदीया
नाम– __________
पता– _____________
फोन नंबर– 80xxxxxx71

Leave a Reply

%d bloggers like this: