Class-11 pol.science ch- 4 कार्यपालिका Important questions and answers.

NCERT Solutions For Class 11 (political science) chapter – 4 karyapalika Most Important question and answers

1. कार्यपालिका से क्या अभिप्राय है उसके कितने प्रकार हैं ?

Answer: 1

सरकार के तीन अंग होते है :-

विधायिका , कार्यपालिका और न्यायपालिका। विधान पालिका कानून बनाने , कार्यपालिका कानूनों को लागू करने तथा न्यायपालिका कानूनों की व्याख्या करने का काम करती है।
कार्यपालिका को सरकार का प्रबंधकीय अंग भी कहा जाता है।

यह निम्नलिखित प्रकार की होती है :-

1. नाममात्र की कार्यपालिका
2. एकात्मक या एकल और बहुलक कार्यपालिका
3. संसदीय और अध्यक्षता आत्मक कार्यपालिका
4. निरंकुश और संवैधानिक कार्यपालिका

2. सामूहिक उत्तरदायित्व और व्यक्तिगत उत्तरदायित्व में अंतर स्पष्ट करें ।

Answer: 2

1. संसदीय शासन प्रणाली में कार्यपालिका अथवा मंत्री मंडल विधानपालिका के प्रति उत्तरदायित्व होता है।

2. मंत्रिमंडल का विधान पालिका के प्रति उत्तरदायित्व दो प्रकार का होता है।

1. सामूहिक उत्तरदायित्व

2. दूसरा व्यक्तिगत उत्तरदायित्व।

• सामूहिक उत्तरदायित्व का अर्थ है यह है कि सभी मंत्री एक इकाई के रूप में एक दूसरे के विभागों के लिए कार्य करते हैं और उत्तरदायित्व होते हैं।

1. एक मंत्री के विरुद्ध की गई कार्यवाही सभी मंत्रियों के विरुद्ध कार्यवाही समझी जाती है।

2. एक मंत्री के विरुद्ध पेश या पास किया गया प्रस्ताव सभी मंत्रियों के विरुद्ध माना जाता है।

3. मंत्रिमंडल के सभी सदस्य एक साथ करते और एक साथ डूबते हैं।

4. व्यक्तिगत उत्तरदायित्व में मंत्री अपने विभाग को कुशलता पूर्वक चलाने के लिए विधान पालिका के प्रति उत्तरदायित्व होता है।

5. विधान पालिका के सदस्य किसी भी मंत्री से उसके विभाग के कार्यों के बारे में प्रश्न तथा पूरक प्रश्न पूछ सकते हैं। मंत्री को उसका उत्तर देना पड़ता है यदि कोई मंत्री अपने विभाग का प्रशासन अच्छी तरह नहीं चलाता तो उसके लिए उस मंत्री को ही जिम्मेदार ठहराया जाता है, यदि विधान पालिका में उस मंत्री के विरुद्ध निंदा प्रस्ताव पास कर दिया जाए तो ऐसी स्थिति में भी उस मंत्री को ही त्यागपत्र देना पड़ता है।

6. सारे मंत्रिमंडल को त्यागपत्र देने की आवश्यकता नहीं होती है।

3. वास्तविक कार्यपालिका और नाममात्र की कार्यपालिका में अंतर स्पष्ट करें?

Answer: 3

  • संसदीय सरकार में यह अंतर दिखाई देता है।
  • संसदीय सरकार में संविधान के अनुसार कार्यपालिका की सारी शक्तियां राज्य के अध्यक्ष के पास होती हैं लेकिन इन शक्तियों का प्रयोग वास्तव में मंत्रिमंडल द्वारा किया जाता है।
  • इंग्लैंड , जापान , भारत , डेनमार्क तथा हॉलेंड में राज्य का अध्यक्ष नामात्र का मुखिया है , जबकि मंत्रिमंडल वास्तविक कार्यपालिका है।
  • अध्यक्षात्मक सरकार में वास्तविक तथा नामात्र की कार्यपालिका में कोई अंतर नहीं माना जाता।
  • अमेरिका में संविधान के अंतर्गत कार्यपालिका की शक्तियां राष्ट्रपति को दी गई हैं।
  • व्यवहार में भी वह इन शक्तियों का प्रयोग राष्ट्रपति के द्वारा ही किया जाता है और इसी कारण राष्ट्र शक्ति वास्तविक कार्यपालिका है।

वास्तविक और नाममात्र की कार्यपालिका के उदाहरण है:-

वास्तविक कार्यपालिका- अमेरिकन राष्ट्रपति तथा स्विजरलैंड के संघीय परिषद् एक वास्तविक कार्यपालिका है।

नाममात्र कार्यपालिका- भारत का राष्ट्रपति और इंग्लैंड का राजा नाममात्र की कार्यपालिका का उदाहरण है।

4. स्थाई कार्यपालिका और राजनीतिक कार्यपालिका में क्या अंतर है?

स्थाई कार्यपालिका-

  • स्थाई कार्यपालिका की नियुक्ति राजनीतिक आधार पर नहीं होती बल्कि शैक्षणिक या तकनीकी योग्यता के आधार पर की जाती है।
  • देश के राजनीतिक परिवर्तन के साथ स्थाई कार्यपालिका में परिवर्तन नहीं होता।
  • किसी भी राजनीतिक दल की सरकार बने स्थाई कार्यपालिका निष्पक्षता से कार्य करती रहती है।
  • स्थाई कार्यपालिका का मुख्य कार्य राजनीतिक कार्यपालिका द्वारा निर्मित की गई नीतियों को लागू करना होता है।
  • असैनिक सेवाएं अथवा प्रशासकीय सेवा स्थाई कार्यपालिका का रुप है।

राजनीतिक कार्यपालिका-

  • राजनीतिक कार्यपालिका उसे कहते हैं जो राजनीतिक आधार पर कुछ समय के लिए चुनाव द्वारा या किसी अन्य साधन द्वारा नियुक्त की जाती है।
  • राजनीतिक कार्यपालिका को किसी भी समय हटाया जा सकता है।
  • मंत्रिमंडल का सदस्य बनने के लिए कोई शैक्षणिक या तकनीकी योग्यता निश्चित नहीं है।
  • चुनाव में जिस दल को विधानमंडल में बहुमत प्राप्त होता है उसी दल का मंत्रिमंडल बनता है।
  • नीतियों का निर्माण राजनीतिक कार्यपालिका द्वारा ही किया जाता है।
  • उदाहरण के लिए भारत में केंद्र और राज्य में मंत्रिमंडल राजनैतिक कार्यपालिका है।

5. कार्यपालिका के कार्यों की व्याख्या करें ।

Answer: 5

कार्यपालिका के कार्यों की व्याख्या निम्नलिखित अनुसार है:-

1. सबसे पहला कार्य प्रशासन संबंधी कार्य , कार्यपालिका का मुख्य कार्य, विधानमंडल के पास किए हुए कानूनों को लागू करना होता है जिनके अनुसार शासन चलता है ।

2. नीति निर्धारक- कार्यपालिका का महत्वपूर्ण कार्य देश की आंतरिक तथा विदेश नीति को निश्चित करना है और उस नीति के आधार पर अपना शासन चलाना है।

3. नीतियों को लागू करने के लिए शासन को कई भागों में बांटा जाता है और प्रत्येक विभाग का एक अध्यक्ष होता है यह इनके कार्य है।

4. कानून और व्यवस्था द्वारा राज्य में शांति स्थापित करना भी कार्यपालिका का ही कार्य है।

5. दूसरे देशों से युद्ध और शांति और संधि की घोषणा कार्यपालिका द्वारा ही की जाती है।

6. दूसरे सैनिक कार्य आंतरिक शांति के साथ-साथ नागरिकों को बाहरी आक्रमणों से बचाना भी कार्यपालिका का कार्य है इसके लिए कार्यपालिका सैनिक प्रबंध तथा युद्ध संचालन के कार्य करती है।

6. संसदीय कार्यपालिका और अध्यक्षात्मक कार्यपालिका में क्या अंतर है?

Answer: 6

संसदीय कार्यपालिका व कार्यपालिका वह होती है जहां राज्य का अध्यक्ष नाममात्र का मुखिया होता है जबकि मंत्रिमंडल वास्तविक कार्यपालिका होती है। मंत्रिमंडल के सदस्य संसद में से ही लिए जाते हैं और संसद के प्रति सामूहिक रूप से उत्तरदाई होते हैं।

अध्यक्षात्मक कार्यपालिका वह कार्यपालिका होती है जहां राज्य का अध्यक्ष वास्तविक मुखिया होता है मंत्री संसद के सदस्य नहीं होते और ना ही संसद की बैठकों में भाग लेते हैं वे संसद के प्रति उत्तरदाई नहीं होते हैं, तो संसद को उनको हटाने का अधिकार भी नहीं होता है।

7. भारत के राष्ट्रपति का चुनाव कैसे होता है? बताइए।

Answer:

भारत के राष्ट्रपति का चुनाव निम्नलिखित द्वारा होता है:-

1. भारत के राष्ट्रपति का चुनाव एक चुनाव मंडल द्वारा होता है।

2. इसमें संसद के दोनों सदनों के चुने हुए सदस्य , राज्य के विधानसभाओं के चुनाव में सदस्य तथा दिल्ली एवं पांडिचेरी की विधानसभा के निर्वाचित सदस्य सम्मिलित होते हैं।

3. उनका चुनाव एकल संक्रमणीय मत प्रणाली (सिंगल ट्रांसफरेबल वोट सिस्टम) द्वारा आनुपातिक प्रतिनिधित्व के अनुसार होता है।

4. राष्ट्रपति पद पर चुने जाने के लिए यह जरूरी है कि उम्मीदवारों को मतों के पूर्ण बहुमत अवश्य प्राप्त होने चाहिए।

5. राष्ट्रपति के चुनाव में 1सदस्य , एक मतवाली विधि नहीं अपनाई जाती, वैसे एक मतदाता को केवल एक ही मत मिलता है लेकिन , उसकी मृत्यु की घटना नहीं होती बल्कि उसका मूल्यांकन किया जाता है।

https://classofachievers.in/ncert-solutions-for-class-11-political-science-chapter-5-vidhayika-most-important-question-and-answer/

8. राष्ट्रपति की कार्यपालिका शक्तियां कौन सी हैं?

Answer:

राष्ट्रपति की कार्यपालिका शक्तियां निम्नलिखित है:-

1. प्रशासकीय शक्ति –

  • भारत का पूरा प्रशासन राष्ट्रपति के नाम पर चलाया जाता है।
  • भारत सरकार के सभी निर्णय औपचारिक रूप से इसी के नाम पर लिए जाते हैं। देश का सर्वोच्च शासक होने के हक से वह नियम तथा अधिनियम भी बनाता है।

2. मंत्री परिषद से संबंधित शक्तियां –

  • राष्ट्रपति , प्रधानमंत्री की नियुक्ति करता है और इसके साथ साथ उसके परामर्श से अन्य मंत्रियों की नियुक्ति भी करता है।
  • वह प्रधानमंत्री की सलाह पर मंत्रियों को अपदस्थ भी कर सकता है सैनिक शक्तियां राष्ट्रपति राष्ट्र की समस्त सेनाओं का सर्वोच्च सेनापति होता है।
  • वह जल , स्थल तथा वायु सेना अध्यक्ष नियुक्त करता है। वह फील्ड मार्शल की उपाधि भी प्रदान करता है।
  • वह राष्ट्रपति रक्षा समिति का अध्यक्ष होता है। सरकार की सभी महत्वपूर्ण नियुक्तियां राष्ट्रपति द्वारा की जाती हैं।

More

Leave a Reply

%d bloggers like this: